NEW HINDI WHATSAPP STATUS 2017

1:-मुझे रेत से क्या लेना देना,

जहा तू नहीं वो हर जगह रेगिस्तान है।

 

2:- अगर नए रिश्ते न बने तो, मलाल मत करना

पुराने टूट न जाये बस, इतना ख्याल करना।

 

3:-  तू याद रख या न रख,

तू मुझे याद है,

बस इतना याद रख।

 

4:- दुनिया फरेब करके हुनरमंद हो गयी,

हम ऐतवार करके गुनेगार हो गये।

 

5:- आज तक बहुत भरोसे टूटे है लेकिन,

भरोसा करने की आदत नहीं छूटी।

 

6:-बेबजह बिछड़ गये हो,

ये बताओ सुकून मिला की नहीं।

 

7:- अब तो डर लगने लगा है उन लोगो से,

जो कहते है ”मेरा भरोसा तो करो”।

 

8:- काम पड़ सकता है !!

आधे रिश्ते तो लोग इसी बजह से निभा रहे है।

 

9:- आंख खुलते ही याद आ जाते हो,

ये ख्याल-ए-यार क्या तुमे और कोई काम नहीं।

 

10:- आग दिल में लगी जब वो खफा हुए,

करके वफ़ा वो कुछ दे न सके,

पर बहुत कुछ दे गये जब वो बेबफा हुए।

 

11:- वो आजमा रहे है मुझको,

जो खुद किसी इन्तहान में खरे न उतर सके।

 

12:- मोहोब्बत से भरी कोई गजल उन्हें पसंद नहीं,

बेबफाई के हर शेर पर वो दाद दिया करते है।

 

13:- हमने तो हद कर दी तुम्हे चाहने में,

तुम ही उलझे रहे हमें आजमाने में।

 

14:- एक नज़र देख के सौ नुक्स निकले मुझमे,

फिर भी में खुश हु मुझे गौर से देखा उसने।

 

15:-लोग कहते है समझो तो ख़ामोशी भी बोलती है,

में एक अरसे से खामोश हु तो वो क्यों बेखबर है।

 

16:- एक बात कहु इश्क, बुरा तो नहीं मानोगे,

बड़ी मौज के थे वो दिन, तेरी पहचान से पहले।

 

17:- अपनाने के लिए हज़ार खूबिया कम है,

छोड़ने के लिए एक कमी ही काफी है।

 

18:- मेरे दिल को छू लेते है अक्सर खामोश,

हसते हुए चेहरो में मुझे,

फरेब नज़र आता है।

 

19:- बिछड़ने का वो पहले से इरादा कर चुके थे,

उसे मेरी तरफ से बस बद-गुमानी चाहिए थी।

 

20:- तुम दिल तोड़ो और हर बार में माफ़ कार दू,

हर बार नहीं होता ये मुझसे।

 

21:- मौसम को देखा है हमेशा बदलते हुए,

अब आपको भी देखेगे।

 

22:- अच्छे जरुर बने मगर,

साबित करने की कोशिश न करे।

 

23:- झूठी हसी से जख्म और बढता गया,

बेहतर था खुलकर रो लिए होते।

 

24:- समझदारो की ये दुनिया और,

ये नासमझ सी मोहोब्बत मेरी,

कोई मेल ही नहीं।

 

25:-रंजिशे है अगर दिल में तो खुल के गिला करो,

मेरी फितरत ऐसी है की में फिर भी हस के मिलूगा।

 

26:- जरा सी खुदगर्जी मुझे भी दे ये खुदा,

इस दरियादिली ने ही बर्वाद किया है मुझे।

 

27:-चालाकी कहा मिलती है मुझे भी बता दो,

जरा सा मीठा बोल के ठग लेते है लोग।

 

28:-कोई समझ न सका उस गरीब की मजबूरी,

जो सांसे बेच रहा था गुब्बारे में भर के।

 

29:- अनुमान गलत हो सकता है पर,

अनुभव कभी गलत नहीं होता है।

 

30:- अच्छा वक़्त उसी का होता है जो,

कभी किसी का बुरा नहीं सोचते।

 

 

 

 

Share & Support