GST से क्या क्या फायदे होगे क्या होगा नुकसान 1 जुलाई से लागु

जीएसटी क्या है क्या-क्या इसके फायदे होंगे

जब भी आप कोई सामान खरीदते थे तो इस पर आपको कुछ टैक्स चुकाना पड़ता था।

 

  •  बड़े बड़े शहरों में बेचना है तो उसके लिए सेवा कर
  • कोई खरीदी कर रहे हैं तो उसके लिए कर
  • सिनेमा देख रहे हैं तो उसके लिए मनोरंजन कर
  • आप एक फोटोग्राफर है तो उसके लिए कर
  • अपना मकान किराए पर उठा रहे हैं तो उसके लिए फिर सेवा कर
  • किसी चीज का आयात कर रहे हैं तो उसके लिए सीमा शुल्क कर
  • कोई गाड़ी खरीद रहे हैं तो उसके लिए कर

”अमेरिका के संस्थापक मैं से एक ने कहा था की जिंदगी में केवल दो चीजें तय है मौत और कर”

हर एक सरकार अपने खजाने को भरने के लिए नए कर को बनाती रहती है और सोचती रहती है क्या अब भला मैं कौन सा कर लगाऊं
राजनीतिक विपक्ष पहले ही बहुत तेरी करवा चुकी है 160 देशों में भारत से पहले ही जीएसटी लागू हो चुका है
कुछ देशों में तो 1950 के दशक में ही जीएसटी आ चुका है

तो क्या हमें चिंता करनी चाहिए कि इसकी वजह से ज्यादा कर अदा करने होंगे यह हमें खुशी होनी चाहिए कि इसकी वजह से हमें कम कर अदा करना पड़ेगा

आइए देखते हैं कि जीएसटी आपको और हमें किस तरह प्रभावित करेगी

मान लीजिए एक कार है

जिसकी कीमत 100 रुपए है

जीएसटी के पहले इसमें कौन-कौन से कर लगेंगे

केंद्रीय उत्पाद शुल्क 12.5%
सेस 1%
वैट 13.5%
भाड़ा 5%
बीमा 2%
कुल मिलाकर दाम बनता है 143 रुपए

आप जीएसटी के बाद

भाड़ा 5 %
बीमा 2% तो रहेगा
जीएसटी 28%
जिसे जोड़कर दाम बनता है 139 रुपए

मतलब 4 % का फायदा

कौन सी वस्तु पर फायदा होगा और कौन सी वस्तु महंगी होगी

जीएसटी को चार वर्गों में विभाजित किया गया है

सरकार द्वारा निर्धारित 84 वस्तुओं पर कोई कर नहीं लगेगा जिसमें से मुख्य वस्तुएं
फल सब्जी गुड अनाज दूध आदि

1:- इन वस्तुओं पर 5% जीएसटी चुकाना होगा
शक्कर चाय कॉफी खाने का तेल आदि पर

2:- इन वस्तुओं पर 12% जीएसटी चुकाना होगा
मक्खन मोबाइल फोन प्रेशर कुकर आदि

3:-इन वस्तुओं पर 18% जीएसटी चुकाना होगा
बालों का तेल साबुन दंत मंजन और कारखानों की कुछ वस्तुएं

4:-इन वस्तुओं पर 28 प्रतिशत जीएसटी चुकाना होगा
गाड़ी फ्रीज tv ऐसी लग्जरी गुड्स तंबाकू ऐसी चीज है इसके अलावा 28% वर्ग में सेस भी 1 से 3 % होगा

वित्त मंत्री अरुण जेटली का कहना है
हम भारत को यूरोपीय संघ की तरह एक साझा बाजार बना रहे हैं जहां वस्तुओं को एक से दूसरे राज्य में भेजना आसान हो जाएगा
कुछ सस्ता कुछ महंगा मिलाकर वही खर्च होगा जो अभी होता है

एक्सपार्ट की माने तो सरकार को 4.2 परसेंट का फायदा होगा जीएसटी से राज्यों के बीच अंदरुनी व्यापार बढ़ जाएगा

क्या होगा सस्ता

शैंपू

चॉकलेट

छोटे कार

खिलौने

DTH

यह सब सामान काफी सस्ते हो जाएंगे

क्या होगा महंगा

लग्जरी कार

तंबाकू उत्पाद जैसे गुटका सिगरेट

ड्रिंक्स

टेक्सटाइल्स

ऐसी चीजें हो जाएंगी महंगी

Redmi का ये phone देखते ही खरीद लेगे आप

साबधान हो जाइये अब आ गयी प्लास्टिक की चीनी

यह लड़की जहां भी जाती थी, वहां आग लग जाती है।

अब भोपाल में किसानो का आन्दोलन भडका, ट्रक में आग लगाई

 

Share & Support
Skip to toolbar