सुविचार

rakshabandhan

रक्षाबंधन क्यो और कब मनाते हैं Rakshabandhan

रक्षाबंधन”Rakshabandhan” क्यो मनाते हैं। रक्षाबंधन Rakshabandhan का त्यौहार है। जो कि भारत देश में मनाया जाता है। रक्षाबंधन (rakshabandhan ka itihas in hindi) के दिन रक्षा सूत्र जिसे हम राखी भी बोलते हैं। इसका बड़ा महत्व होता है। इस त्यौहार को हम राखी भी बोलते हैं। रक्षाबंधन के दिन सभी बहनें अपने भाइयों को कच्चे […]

Share & Support
Read More

बेटी की दास्तान

बाप और बेटी लड़कियों के स्कूल में आने वाली नई टीचर बेहद खूबसूरत थी लेकिन उसने अभी तक शादी नहीं की थी सब लड़कियां उसके इर्द-गिर्द जमा हो गईं और मज़ाक करने लगी कि मैडम आपने अभी तक शादी क्यों नहीं की…? मैडम ने दास्तान कुछ यूं शुरू की- एक महिला की पांच बेटियां थीं, […]

Share & Support
Read More

प्रधानमन्त्री श्री नरेन्द्र मोदी नारे एवं उद्धरण

 मैंने चाय बेची है , लेकिन कभी अपना देश नहीं बेचा। राहुल का भाषण लोगों के मनोरंजन के लिए अच्छा है। कांग्रेस का घोषणापत्र एक घोषणापत्र नहीं बल्कि एक धोखा पात्र है। पाकिस्तान के पास 3 ऐकेज हैं – ऐ के 47 , ऐ के अंटोनी, ऐ के -49 जिसने नयी पार्टी बनायी है। जो बच्चे मुश्किल […]

Share & Support
Read More

भगवान की प्लानिंग

एक बार भगवान से उनका सेवक कहता है, भगवान- आप एक जगह खड़े-खड़े थक गये होंगे, . एक दिन के लिए मैं आपकी जगह मूर्ति बन कर खड़ा हो जाता हूं, आप मेरा रूप धारण कर घूम आओ l . भगवान मान जाते हैं, लेकिन शर्त रखते हैं कि जो भी लोग प्रार्थना करने आयें, […]

Share & Support
Read More

“चाणक्य नीति”

आचार्य चाणक्य की नीतियों का अद्भुत संग्रह है   दुष्ट पत्नी, झूठा मित्र, बदमाश नौकर और सर्प के साथ निवास साक्षात् मृत्यु के समान है।        भविष्य में आने वाली मुसीबतो के लिए धन एकत्रित करें। ऐसा ना सोचें की धनवान व्यक्ति को मुसीबत कैसी? जब धन साथ छोड़ता है तो संगठित धन भी तेजी से घटने लगता है।   […]

Share & Support
Read More

माँ और पत्नी देखे कौन बड़ा Hindi Story

माँ और पत्नी किसका प्यार बड़ा!!   पत्नी बार बार मां पर इल्जाम लगाए जा रही थी. और पति बार बार उसको अपनी हद में रहने की कह रहा था लेकिन पत्नी चुप होने का नाम ही नही ले रही थी व् जोर जोर से चीख चीखकर कह रही थी कि “उसने अंगूठी टेबल पर […]

Share & Support
Read More

सेठ और साधू की कहानी आखे खुल जाएगी

जैसे विचार वैसा संसार बहुत ही अच्छी शिक्षा!!   बासमती चावल बेचने वाले एक सेठ की स्टेशन मास्टर से साँठ-गाँठ हो गयी । सेठ को आधी कीमत पर बासमती चावल मिलने लगा । सेठ ने सोचा कि इतना पाप हो रहा है , तो कुछ धर्म-कर्म भी करना चाहिए । एक दिन उसने बासमती चावल […]

Share & Support
Read More
Skip to toolbar